सर्दी, जुकाम, छींक, खांसी, बुखार और अस्थमा सभी के लिए 1 दवा।

सर्दी, जुकाम, छींक, खांसी, बुखार और अस्थमा सभी के लिए 1 दवा।

सीतोपलादी चूर्ण ।

सीतोपलादी चूर्ण आयुर्वेद का बहुत प्रसिद्ध औषधि है। जब सर्दी, खांसी, बुखार 1 साथ ये सब हो जायें । तो उसके लिए सीतोपलादी चूर्ण प्रयोग करें।

दवा

सीतोपलादी चूर्ण 1 चुटकी (1/4 चम्‍मच) शहद में मिलाकर प्रात: और सायंकाल खाली पेट चटायें। इससे छोटे बच्‍चों के सर्दी, जुकाम, छींक, खांसी, बुखार और अस्थमा जैसे रोग ठीक होते हैं। बडे लोगों के लिए 1/2 चम्‍मच चूर्ण का प्रयोग करें।

सितोपलादि चूर्ण बनाने की विधि-

नीचे बताई गयी चीजे किसी भी किराना या पंसारी की दुकान पे आराम से मिल जायेगी।
1- मिश्री-16 भाग 160 g.m
2-वंशलोचन – 8 भाग 80 g.m
3-पिप्पली-4 भाग 40 g.m
4- इलाइची- 2 भाग 20 g.m
5-दालचीनी- 1 भाग 10 g.m इन सब को बरीक पीस ले।

और बना गया आप का सितोपलादि चूर्ण

ये मधु या घी के साथ लिया जाता है
2 से 4 g.m की मात्रा में ले।

वैसे ये किसी भी मेडीकल स्टोर पे उप्लब्द है। ये झंडू, बैद्यनाथ, डाबर या रामदेव की दूकान से भी मिल जायेगा. मगर हम ज़्यादातर झंडू या बैद्यनाथ पर ही विश्वास रखते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *