एड़ी के ऊपरी हिस्से में होने वाला दर्द, अकिलिस टेंडन तो नहीं

ईश्वर द्वारा प्राप्त इस शरीर का ध्यान रखना हमारी जवाबदारी है| ऐसे में हमे अपने सम्पूर्ण शरीर का उसके अंगो का इस्तेमाल ध्यानपूर्वक करना चाहिए| आज के व्यक्ति का जीवन जीने का तरीका पहले से कहीं गुना अलग है| जहा पहले व्यक्ति रोजी-रोटी और परिवार के लालन पालन के बारे में सोचता था, जबकि आज का मनुष्य केवल पैसे के पीछे दिन-रात भाग रहा है और अपने ऊपर किसी प्रकार का ध्यान नहीं रखते है|

जिसके परिणाम स्वरुप आज हम अनेक तरह की बिमारिओं, रोगों तथा हड्डी या जोड़ो से सम्बंधित रोगो से परेशान रहते है| आपने बहुत से लोगों को हड्डी रोग यानि हड्डियों में दर्द होना या एड़ियो में दर्द होना आदि से जूझते हुए देखा होगा| आपने कभी कोशिश की जानने की हड्डियों में दर्द क्यों क्यों होता है|

आज हम लोग लापरवाह हो गए है| छोटी-मोटी चोट या सामान्य अंदरुनी चोटों को हम ध्यान नहीं देते है, जो आगे चलकर हमे बहुत बड़ी मुसीबत मे डाल सकते है| ऐसे ही कुछ कारणों की वजह से ही अंदरुनी चोट बढ़कर हड्डी रोग में बदल जाती है| आज हम आपको एक ऐसे ही रोग के बारे में बताने वाले है जिसे अकिलिस टेंडन कहा जाता है| शायद ही अपने यह नाम कभी सुना होगा और ना ही आप इसके बारे में कुछ जानते होंगे|

अकिलिस टेंडन एक ऐसा रोग है जिसमें पैर के पीछे के एड़ी के ऊपर वाले भाग के ऊतकों में सूजन आ जाती है और धीरे-धीरे यह ऊतक टूटने लगते है| अकिलिस टेंडन रोग में जब यह प्रक्रिया होती है तब यह समय रोगी के लिए बहुत ही पीड़ा और दर्ददायक होता है|

आयुर्वेद में इस रोग से बचने के लिए कुछ आसान घरेलु इलाज बताये गए है| यह घरेलु उपचार आपको इस दर्ददायक स्थिति से पूर्ण रूप से मुक्ति दिला सकता है और आपको स्वस्थ जीवन जीने का आनंद पुनः प्राप्त हो सकता है| लकिन इसके उपचारो को जानने से पहले इस रोग के कारणों और लक्षणों का जानना बहुत जरुरी है|

 

Achilles Tendon Causes: इस रोग का कारण

अकिलिस टेंडन का रोग उन सभी लोगों में जरूर देखा जाता है जो किसी न किसी प्रकार के खेलो से जुड़े है| खासकर दौड़ लगाना, जिमनास्टिक्स करना, डांस, फुटबॉल, बेसबॉल, सॉफ्टबॉल, बास्केटबॉल, टेनिस और वॉलीबॉल आदि खेल जिनमे अधिक समय तक दौड़ना होता है या पेरो का अधिक इस्तेमाल करना होता है, इस तरह के खेलों को नियमित खेलने से भी यह रोग हो जाता है| आपने भी कई बार इस प्रकार की खबरे अख़बार या न्यूज़ चैनल पर देखि होंगी कि खिलाडी चोटिल हो गए है| यह जरुरी नहीं की हर खिलाडी इस रोग से ग्रसित हो लेकिन अधिकतर ऐसा देखा जरूर गया है| हर रोग का कोई न कोई न कारण अवश्य होता है| आइये जानते है Achilles Tendon Causes

  1. कोई पुरानी चोट जो अंदर ही अंदर बड़ कर इस रोग का आकर लेले|
  2. पंजे का अधिक समय तक प्रयोग करना या एक ही स्थान पर अधिक समय तक खड़े रहना|
  3. अगर आपके पैरों की मांसपेशिया किसी वजह से कड़क हो जाती है इस स्तिथि में भी आप इस रोग से ग्रसित हो सकते है|
  4. सीढ़ियाँ चढ़ते समय एक – एक सीडी का ही प्रयोग करना चाहिए| कई बार लोगों को सीडियों पर एक साथ   दो स्टेप्स चढ़ते हुए देखा जाता है, लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए| ऐसा करने से पैरों की मांसपेशियों पर अधिक खिंचाव आता है|
  5. हाई हील्स के जुते या सैंडल्स भी नहीं पहनना चाहिए, क्योकि इनसे मांसपेशियों में तनाव बढ़ता है|

Achilles Tendon Symptoms: जानिए इसके लक्षण

हर बीमारी का कोई न कोई लक्षण जरूर होता है आइये जानते है Achilles Tendon Symptoms

  1. पैर के पीछे एड़ी के ऊपर वाले भाग में दर्द, सूजन और कड़कपन होना इसका मुख्या लक्षण है|
  2. पंजे को हिनले में कठिनाई होना यह इसका एक लक्षण है|

 

Achilles Tendonitis Treatment: जानिए कुछ घरेलु उपचार

 

हल्दी पाउडर

इसके लिए सबसे पहले 1 चम्मच हल्दी पाउडर में 1 चम्मच पीसी चीनी मिलाएं और थोड़ा सा प्लास्टर ऑफ़ पेरिस भी मिला लीजिये| अब इसमें पानी मिलाकर पेस्ट बना लें रात को सोने से पहले प्रभावित स्थान पर इस लेप को लगाये और फिर पट्टी बांध लीजिये| रातभर इसे लगा रहने दे और सुबह के समय इसे पानी से धो लीजिये| यह प्रक्रिया आप कुछ दिन तक नियमित करें| | ऐसा करने से Achilles Tendon बिलकुल ठीक हो जायेगा|

 

अदरक की चाय

अदरक की चाय भी इस रोग के उपचार के लिए बहुत ही अच्छी औषधि है| इसके लिए 1 कप उबला हुआ पानी लें और इसमें ताजे अदरक के १० टुकड़े डालकर थोड़ी देर के लिए छोड़ दें| जब यह पानी हल्का गुनगुना रह जाएं तो इसे छान लीजिये और इसमें आधा चम्मच शहद मिला लें| इस अदरक की चाय का प्रतिदिन दिन में २ से ३ बार सेवन करना चाहिए| यह अकिलिस टेंडन को जल्दी ठीक करता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *